Month: May 2021

जदुवंशी बनाफर राजपूत वंश का ऐतिहासिक शोध–

जदुवंशी बनाफर राजपूत वंश का ऐतिहासिक शोध— हमारी इस पावन पवित्र वीरों के बलिदान की भारत भूमि का इतिहास किसी एक भू -भाग का ऋणी नही है ।प्राचीनकाल में अयोध्या ,मगध ,काशी ,मथुरा ,शक्ति केंद्र रहे तो बाद के वर्षों में उज्जैन ,पाटिलपुत्र शक्ति केंद्र बने ,इसके बाद मध्यकाल में दिल्ली ,कन्नोज ,पाटन फिर मेवाड़ …

जदुवंशी बनाफर राजपूत वंश का ऐतिहासिक शोध– Read More »

श्री कृष्ण के बाद मथुरा में पुनः जादों राजवंश की स्थापना एवं उसके संस्थापक श्री वज्रनाभ की पुनः शासन -सत्ता का ऐतिहासिक शोध —

   श्री कृष्ण के बाद   मथुरा  में पुनः  जादों-राजवंश  की स्थापना एवं उसके संस्थापक श्री वज्रनाभ  की पुनः शासन -सत्ता का ऐतिहासिक शोध— ” प्रभास क्षेत्र में हुए जदुवंश संहार के बाद द्वारिका से सुने ब्रज में प्रकाश-पुंज बनकर आये थे श्री कृष्ण के प्रपौत्र श्री वज्रनाभ ।इन्होंने ही निर्जन अवस्था में पड़ी हुई  ब्रजभूमि …

श्री कृष्ण के बाद मथुरा में पुनः जादों राजवंश की स्थापना एवं उसके संस्थापक श्री वज्रनाभ की पुनः शासन -सत्ता का ऐतिहासिक शोध — Read More »

जदुवंशियों के प्राचीन राज्य शूरसेन प्रदेश के इतिहास का पौराणिक अध्ययन—–

जदुवंशियों के प्राचीन राज्य शूरसेन प्रदेश के इतिहास का पौराणिक अध्ययन —— वर्तमान मथुरा तथा उसके आस –पास का प्रदेश ,जिसे अब ‘ब्रज ‘ कहा जाता है ,प्राचीन काल में यह ‘शूरसेन प्रदेश या जनपद के नाम से प्रसिद्ध था |इसकी राजधानी मधुरा या मथुरा नगरी थी | शूरसेन जनपद आरम्भ से ही महाजनपद के …

जदुवंशियों के प्राचीन राज्य शूरसेन प्रदेश के इतिहास का पौराणिक अध्ययन—– Read More »

जदुवंशियों के विविध वंश एवं उनके पौराणिक राज्यों का ऐतिहासिक शोध–

जदुवंशियों के विविध वंश एवं उनके पौराणिक राज्यों का ऐतिहासिक शोध —- ऐल-वंश के प्रतापी राजा ययाति जो भारत के प्रथम चक्रवर्ती सम्राट थे उनके पांच पुत्र थे , जिन सभी ने आर्य-जाति की शक्ति का दूर -दूर तक विस्तार किया , और अपने पृथक -पृथक राज्य स्थापित किये।ये पांचों -यदु ,तुर्वसु ,द्रुहा अनु और …

जदुवंशियों के विविध वंश एवं उनके पौराणिक राज्यों का ऐतिहासिक शोध– Read More »

The Medieval Fort & Town Thangarh (Tribhuvanagiri ) : A Symbol of Bravery of Jadon Rulers —

—- During the medieval period Thangarh /Tahangarh fort was perceived an adjunct of the large fort at Bayana region . Interestingly , the construction of both these (Vijayamandirgarh and Tanagarh )forts is ascribed to the Jadon Rajput who ruled over Eastern Rajputana in the 11th century A.D.Thangarh fort was built by Tahanpala , the eldest …

The Medieval Fort & Town Thangarh (Tribhuvanagiri ) : A Symbol of Bravery of Jadon Rulers — Read More »

Medieval History of Jadon Tarhati village (Tamangarh Fort)—

Medieval History of Jadon Tarhati village (Tamangarh Fort )— Tarhati , better known in history as Tamangarh fort ,is a small village in Karauli tahsil situated at north -east .It was a famous fort of Northern India during the early mediaeval period .It was founded by Tamanpal , a Yadava ruler during 11th century A.D.The …

Medieval History of Jadon Tarhati village (Tamangarh Fort)— Read More »

जदुवंश में सात्वत वंश शाखा के प्रादुर्भाव का संक्षिप्त ऐतिहासिक शोध —

जदुवंश में सात्वत वंश शाखा के प्रादुर्भाव का संक्षिप्त ऐतिहासिक शोध —— विदर्भ वंश में आगे चल कर एक मधु नाम का एक शक्ति शाली यदुवंशी राजा हुआ , जो बड़ा प्रतापी था |उसने यदुवंश के विविध –राज्यों को मिलाकर एक विशाल चक्रवर्ती राज्य की स्थापना की पर यदुवंशी –राज्यों की एकता देर तक कायम …

जदुवंश में सात्वत वंश शाखा के प्रादुर्भाव का संक्षिप्त ऐतिहासिक शोध — Read More »

Ancient History of Jadus(Yadus )Lunar race Kshatriya’s of Surasena Country–

Ancient History of Jadus(Yadus) Lunar race of Kshatriya’s  of Surasena country— Mathura Kingdom  in Ancient Period — The proximity of the district to Bharatpur in the north-east ,to Alwar in the north and to Jaipur in the north-west lends the area the antiquity of the epic age.The region might have been included in the Matsya …

Ancient History of Jadus(Yadus )Lunar race Kshatriya’s of Surasena Country– Read More »

The medival history of  Jaduvansis of  Mathura , Bayana , Tahangarh  and Karauli —-

The medival history of  Jaduvansis of  Mathura , Bayana , Tahangarh  and Karauli —- Chandra vansa –— The Lunar race— The lineage or race which claims descent from the moon. It is divided into two great branches, the Yadavas and Pauravas, respectively , descended from Yadu and Puru. Krishna belonged to the line of Yadu, …

The medival history of  Jaduvansis of  Mathura , Bayana , Tahangarh  and Karauli —- Read More »

History of Karauli State in Modern period from 15th to 18th century—

Between AD 1589 and 1734, the small Rajput Yaduvamshi (or Yadavas) kingdom of Karauli was ruled in succession by Dwarka Das, Mukund Das, Jagman, Chhatraman, Dharmapal, Ratanpal and Kanwarpal II (r. 1691-1734.) The period was generally marked by an overall state of confusion and dissension. Internal palace squabbles and harem intrigues added to the disorder. …

History of Karauli State in Modern period from 15th to 18th century— Read More »

error: Content is protected !!